Tarun Tejpal Biography, Latest news, kesh, daughter, family | तरुण तेजपाल जीवन परिचय, केस

तरुण तेजपाल का जीवन परिचय

तरुण तेजपाल का जन्म 15 मार्च 1963 को पंजाब के जालंधर शहर में हुआ था। तरुण तरुण तेजपाल के पिता भारतीय सेना में थे।  जिसकी वजह से इन्हें भारत के अलग-अलग हिस्सों में रहने का अवसर मिला।

तरुण तेजपाल ने पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से स्नातक की पढ़ाई अर्थशास्त्र में किया। तरुण तेजपाल भारत के प्रसिद्ध पत्रकार लेखक और उपन्यास उपन्यासकार हैं। Tarun Tejpal Biography

तरुण तेजपाल का परिवारिक जीवन Tarun Tejpal Biography

तेजपाल के परिवार में उनकी पत्नी तथा उनके दो बच्चे हैं। जिनमें दोनों बेटियां हैं उनकी बेटियों का नाम टिया और कारा है। उनकी पत्नी का नाम गीता बत्रा है। गीता बत्रा सलाम बालक ट्रस्ट की ट्रस्टी हैं। Tarun Tejpal Biography

तरुण तेजपाल का कैरियर

तरुण तेजपाल हिंदुस्तान के एक प्रसिद्ध पत्रकार लेखक और बड़े उपन्यासकार रहे हैं। तरुण तेजपाल के पास लगभग 30 साल से ज्यादा का पत्रकारिता में अनुभव है। वर्ष 1980 में द इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप में नौकरी के साथ अपना पत्रकारिता जीवन की शुरुआत की थी।Tarun Tejpal Biography

इसके बाद इंडिया 2000 नामक मैगजीन में काम करने के लिए तरुण तेजपाल दिल्ली आ गए। 1984 में तरुण तेजपाल इंडिया टुडे मैगजीन में बताओ सीनियर सब एडिटर काम करने लगे। 1994 में तरुण तेजपाल ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस को ज्वाइन किया। जिसके बाद यह आउटलुक पत्रिका के साथ जुड़े।Tarun Tejpal Biography

आउटलुक पत्रिका के साथ तरुण तेजपाल कई वर्षों तक काम किया है। आउटलुक पत्रिका में काम करने के साथ-साथ उन्होंने खुद का पब्लिशिंग कंपनी इंडिया इंक की शुरुआत की। इंडिया इंक ही वह कंपनी है जिसने अरुंधति राय का उपन्यास द गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स 1998 में छापा था। Tarun Tejpal Biography

इस उपन्यास को बुकर प्राइज से नवाजा गया था। आउटलुक छोड़ने के बाद मार्च 2000 में तरुण तेजपाल अनिरुद्ध बहल के साथ मिलकर ऑनलाइन इन्वेस्टिगेशन वेबसाइट शुरू की।

जिसका नाम तहलका डॉट कॉम है वर्ष 2004 में यह एक टेबलाइट न्यूज़पेपर तब्दील हो गया।  तहलका डॉट कॉम को 2007 में मैगजीन का रूप दे दिया गया। Tarun Tejpal Biography

तहलका डॉट कॉम द्वारा किया गया स्टिंग ऑपरेशन

साल 2000 में तहलका डॉट कॉम ने अपना पहला स्टिंग ऑपरेशन क्रिकेट में होने वाली मैच फिक्सिंग को लेकर किया था। इसके बाद 2001 में तहलका डॉट कॉम का दूसरा स्टिंग ऑपरेशन रक्षा सौदों में होने वाली दलाली को लेकर किया था। स्टिंग ऑपरेशन  का नाम ऑपरेशन वेस्ट एंड था। Tarun Tejpal Biography

ऑपरेशन वेस्ट एंड में जींस फोटो फोटोस और वीडियो को रिलीज किया गया था। उसमें काल्पनिक हथियारों का सौदा कराने के बदले सरकारी अफसर और राजनीतिक नेता रिश्वत लेते हुए कैमरे में दिखाए गए थे।

इस स्टिंग ऑपरेशन के बाद तत्कालीन सत्तारूढ़ पार्टी के अध्यक्ष और रक्षा मंत्री को इस्तीफा देना पड़ गया था। इस स्टिंग ऑपरेशन के बाद तहलका डॉट कॉम ने पूरी दुनिया भर से सनसनी बटोरी और तरुण तेजपाल को प्रसिद्ध कर दिया। 

तरुण तेजपाल के द्वारा लिखा गया उपन्यास

तरुण तेजपाल भारत के एक अच्छे उपन्यासकार हैं। इन्होंने अपना पहला उपन्यास सन 2005 में अल्केमी आफ डिजायर लिखा था।  सन 2009 में तरुण तेजपाल का दूसरा उपन्यास द स्टोरी ऑफ माई एसेसिनेशन लिखा। तेजपाल का तीसरा उपन्यास सन 2011 में द वैली ऑफ मास्कस निकाला। Tarun Tejpal Biography

तरुण तेजपाल को मिले हुए अवार्ड और सम्मान

  • वर्ष 2001 में एशिया वीक मैगजीन ने तरुण तेजपाल को एशिया के 50 सबसे शक्तिशाली कम्युनिकेटर्स की लिस्ट में शामिल किया था।
  • वर्ष 2001 में बिजनेस वीक ने उन्हें एशिया में सबसे आगे रहने वाले 50 लीडर्स की लिस्ट में रखा
  • तरुण तेजपाल वर्ष 2007 में द गार्जियन के द्वारा उन 20 लोगों में शामिल हुए जो भारत के नए अभिजात वर्ग का गठन करते हैं। Tarun Tejpal Biography
  • वर्ष 2006 और साथ में उनके नावेल अल्केमी आफ डिजायर को ले प्रिक्स मिले पेजेस अवार्ड से नवाजा गया
  • वर्ष 2009 में बिजनेस वीक मैगजीन ने तरुण तेजपाल का नाम उस वर्ष के लिए भारत के 50 सबसे अधिक शक्तिशाली पर्सनालिटी की लिस्ट में रखा
  • साल 2010 में तरुण तेजपाल को अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म से नवाजा गया था।

तरुण तेजपाल पर आरोप

तरुण तेजपाल पर 20 नवंबर 2013 को अपने महिला सहकर्मी के साथ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है। जिसके तहत तहलका पत्रिका ने अपने स्टाफ को सूचित किया कि तरुण तेजपाल अगले 6 महीने के लिए संपादक के तौर पर अपना पद छोड़ रहे हैं। Tarun Tejpal Biography

गोवा में घटित इस यौन उत्पीड़न की घटना में गोवा पुलिस ने तरुण तेजपाल के खिलाफ बलात्कार सहित कई अन्य आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की थी। Tarun Tejpal Biography

लोगों के मुताबिक गोवा में हुए तहलका डॉट कॉम के थिंक फेस्ट इवेंट के समय तरुण तेजपाल ने पणजी के एक फाइव स्टार होटल की लिफ्ट में अपने महिला सहकर्मी के साथ दो बार यौन उत्पीड़न किया।

जिस मामले में केस दर्ज होने के बाद 30 नवंबर को उनकी गिरफ्तारी हुई थी। परंतु 2014 में जमानत मिलने के बाद से वह जेल से बाहर है। Tarun Tejpal Biography

सुप्रीम कोर्ट ने तरुण तेजपाल पर लगे यौन उत्पीड़न के खिलाफ याचिका को खारिज कर दिया है। जिसमें तरुण तेजपाल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को रद्द करने की मांग किया था। 

सुप्रीम कोर्ट ने गोवा कोर्ट को 6 महीने के अंदर इस केस की सुनवाई पूरी करने का आदेश दिया है। तरुण तेजपाल ने मुंबई हाई कोर्ट की गोवा बेंच से राहत न मिलने के कारण सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी। Tarun Tejpal Biography

और पढ़े-

Leave a Comment