स्वतंत्रता दिवस शायरी कविता 2021| Independence Day Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

स्वतंत्रता दिवस शायरी कविता 2021|15 August Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

नाम स्वतंत्रता दिवस
मनाये जाने का कारण भारत की आजादी
भारत की आजादी की तारीख और सन्15 अगस्त 1947
आजाद के बाद प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद
आजाद के बाद प्रथम उप राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन
आजाद के बाद प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू
आजादी के वर्ष 75वां

जैसा की आप सब जानते है की 15 अगस्त सन 1947 को भारत आजाद हुआ था।ऐसा कहा जाता है की भारत अभी भी आजाद नहीं हुआ है। अंग्रेजो ने भारत को भारतवासियो को 99 वर्ष की लीज़ पर दी है । देखा जाये तो आज भी हमरा देश आजाद नहीं है , लोगो के विचारो से, गरीबी से, राजनितिक पार्टिओ से।Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

परन्तु 15 अगस्त एक ऐसा राष्ट्रीय पर्व है जिसे हम भारत की आजादी के रूप में मनाते है।

पेश है 15 अगस्त के लिए कुछ खास कविताये शायरिया — Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

स्वतंत्रता दिवस 2021 के लिए कविता  

(1)

लाल रक्त से धरा नहाई
श्वेत नभ पर लालिमा छायी है।
आजादी के नव उद्घोष पे,
सबने वीरो की गाथा गायी है। 

गाँधी ,नेहरु ,पटेल , सुभाष की
ध्वनि चारो और है छायी है। 
भगत , राजगुरु और , सुखदेव की
क़ुरबानी से आँखे भर आई है। 

ऐ भारत माता तुझसे अनोखी
और अद्भुत माँ न हमने पायी है। 
हमारे रगों में तेरे क़र्ज़ की,
एक एक बूँद समायी है। 

माथे पर है बांधे कफ़न।
और तेरी रक्षा की कसम है खायी है
सरहद पे खड़े रहकर।
आजादी की रीत निभाई है।

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi 

 (2)

सारे जहाँ से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा। 
हम बुलबुलें हैं उसकी, वो गुलसिताँ हमारा।।

( सारे जहाँ से अच्छा…)

परबत वो सबसे ऊँचा, हमसाया आसमाँ का। 
वो संतरी हमारा वो पासबाँ हमारा।।

( सारे जहाँ से अच्छा…)

गोदी में खेलती हैं, जिसकी हज़ारों नदियाँ। 
गुलशन है जिनके दम से, रश्क-ए-जिनाँ हमारा।।  

( सारे जहाँ से अच्छा…)

मज़हब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना। 
हिंदी हैं हम वतन है, हिंदुस्तान हमारा।।

( सारे जहाँ से अच्छा…)

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

(3)

जब भारत आज़ाद हुआ 

तब आजादी का राज हुआ था। 
वीरों ने क़ुरबानी दी। 

तब भारत आज़ाद हुआ था। 

भगत सिंह ने फांसी ली।

इंदिरा का जनाज़ा उठा था। 
इस मिटटी की खुशबू ऐसी। 

खून की आँधी बहती थी। 

वतन का ज़ज्बा ऐसा। 

जो सबसे लड़ता जा रहा था। 
लड़ते लड़ते जाने गई। 

तब भारत आज़ाद हुआ था। 

फिरंगियों ने ये वतन छोड़ा। 

इस देश के रिश्तों को तोडा था। 
फिर भारत को दो भागो में बाटा। 

एक हिस्सा हिन्दुस्तान दूजा पाकिस्तान बना था। 

सरहद नाम की रेखा खींची। 

जिसे कोई पार ना कर पाया था। 
ना जाने कितनी माये रोइ। 

ना जाने कितने बच्चे भूके सोए थे।

हम सब ने साथ रहकर। 

एक ऐसा समय भी काटा था। 
विरो ने क़ुरबानी दी थी। 

तब भारत आज़ाद हुआ था। 

हैप्पी इंडिपेंडेंस डे 2021 

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

(4)

हाँ हम इस देश का वासी है
इस मिट्टी का कर्ज चुकाएगे ,

जीने का दम रखते है
तो इसके लिए मरकर भी दिखलाएगे

नजर उठा के देखना ऐ दुश्मन मेरे देश को,
मरूंगा मैं जरूर पर तुझे मारकर ही मरूंगा,

कसम हमें इस मिट्टी की,
कुछ ऐसा हम कर जाएगे ,

हाँ हम इस देश का वासी है
इस माटी का कर्ज चुकाएगे ।

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

(5)

हम बच्चे आजाद देश के,
ऐसा कुछ कर जायेंगे,

हमें भी लोग युगो युगो तक याद रख पाएंगे,
जन्म लिया इस पावन धरती पर,

इस धरती का कर्ज चुकाएंगे,
नया प्रकाश नयी रौशनी चारों और फैलाएंगे,

हम बच्चे आजाद देश के,
स्वतंत्र भारत में हमने जन्म लिया,

नहीं भूले हम क़ुरबानी जिन्होंने हमें आजाद किया,
उनकी क़ुरबानी व्यर्थ जाने न देंगे,

हर सपना साकार कर दिखाएंगे,
भर्ष्टाचार, गरीबी को मिटा कर,

देश को तरक्की की राग पर ले जायेंगे,
जाति-पाति का बंधन तोड़कर भेद भाव का फर्क मिटायेंगे।

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

(6)

आजादी की खुली हवा में,
हम निकले सीना तान के,हम बच्चे हिंदुस्तान के,
हम जिस मिट्टी के अंकुर है,उसकी शान निराली है,
उसके खेतों में सोना, बागों में हरियाली है,
धन दौलत से ज्यादा ऊँचे,
रिश्ते माँ संतान के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,

हवा हमारी धुप हमारी,
नीर हमारा पावन है,
तन मन जिसके सौ बसंत से,
मन हरियाला सावन है,
भारत माँ के बेटे बेटी,
जीते है हम शान से,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,

सत्य अहिंसा पर आधारित,
मौलिक धर्म हमारा है,
परहित सच्चा धर्म है भाई,
यही हमारा नारा है,
पथ कोई हो विधि कोई हो,
बलिहारी भगवन के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,

आजादी की खुली हवा में,
हम निकले सीना तन के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
हम बच्चे हिन्दुस्थान के।

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi

(7)

कस ली है कमर अब तो,
कुछ करके ही दिखाएंगे,
आजाद ही हो लेंगे,
या सर ही कटा देंगे,

हटेंगे नहीं कभी पीछे,
डरकर कभी जुल्मों से,
तुम हाथ उठाओगे,
हम पैर बढ़ा देंगे,

बेशस्त्र नहीं हैं हम,
बल है हमें चरखे का,
चरखे से जमीं को हम,
ता चर्ख़ गुंजा देंगे,

परवाह नहीं कुछ दम की,
ग़म की नहीं, मातम की,
है जान हथेली पर,
एक दम में गंवा देंगे,

उफ़ तक भी जुबां से हम हरगिज़ न निकालेंगे,
तलवार उठाओ तुम,
हम सर को झुका देंगे,

सीखा है नया हमने लड़ने का यह तरीका,
चलवाओ गन मशीनें,
हम सीना अड़ा देंगे,

दिलवाओ हमें फांसी,
ऐलान से कहते हैं,
खून से ही हम शहीदों के,
फ़ौज बना देंगे,

मुसाफ़िर जो अंडमान के,
तूने बनाए, ज़ालिम,
आज़ाद ही होने पर,
हम उनको बुला लेंगे।

(8)

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊँचा रहे हमारा

सदा शक्ति बरसाने वाला, प्रेम सुधा सरसाने वाला
वीरों को हर्षाने वाला, मातृभूमि का तन-मन सारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा। .

स्वतंत्रता के भीषण रण में, लखकर जोश बढ़े क्षण-क्षण में
काँपे शत्रु देखकर मन में, मिट जाये भय संकट सारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा…

इस झंडे के नीचे निर्भय, हो स्वराज जनता का निश्चय
बोलो भारत माता की जय, स्वतंत्रता ही ध्येय हमारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा…

आओ प्यारे वीरों आओ, देश-जाति पर बलि-बलि जाओ
एक साथ सब मिलकर गाओ, प्यारा भारत देश हमारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा…

इसकी शान न जाने पावे, चाहे जान भले ही जावे
विश्व-विजय करके दिखलावे, तब होवे प्रण-पूर्ण हमारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा…

15 August 2021 Hindi Shayari

स्वतंत्रता दिवस 2021 के लिए शायरी 

फांसी चढ़ गए और सीने पर गोली खाई,
हम उन शहीदों को प्रणाम करते हैं,
जो मिट गए देश पर, हम उनको सलाम करते हैं !
स्‍वतंत्रता दिवस मुबारक हो !!!

मरने के बाद भी जिसके नाम मे जान हैं,
ऐसे जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है।

दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान हैं,
सिर हमेशा ऊंचा रखना इसका
जब तक दिल में जान है…।।
जय हिंद

यह बात हवाओं को भी बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना.
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
देशभक्तों से ही देश की शान है,
देशभक्तों से ही देश की शान है,
हम उस देश के फूल हैं यारो
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है..

तिरंगा हमारा है शान-ए-जिंदगी
वतन परस्ती है वफा-ए-जमी,
देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमें,
अखंड भारत के स्वप्न का जुनून है हमें..!!

वो तिरंगे वाले DP हो तो लगा लेना भाई जी। 
सुना है कल देशभक्ति दिखने वाली तारीख हैं।।

मरने के बाद भी जिसके नाम मे जान हैं। 
ऐसे जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है।। 

सरफ़रोशी की शमा दिल में जला लू तो क्या होगा। 
सारा लहू अगर शरहदों पे बहा दूँ तो क्या होगा।।  

Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi Swatantrata divas Shayari Poem 2021 in Hindi 

FAQ

Q. स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है ?

Ans. स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है। 

Q. भारत को आजाद हुए कितने साल हुए ?

Ans. 2021 में 75 वर्ष।

Q. भारत कब आजाद हुआ था ?

Ans. भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था। 

Q. भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे ?

Ans. डॉ राजेंद्र प्रसाद थे।

Q. भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति कौन थे ?

Ans. सर्वपल्ली राधाकृष्णन थे।

Q. भारत के प्रथम प्रधानमंत्री कौन थे ?

Ans. पंडित जवाहर लाल नेहरू थे।

Q. 1947 में भारत किससे आजाद हुआ था ?

Ans. 1947 में भारत अंग्रेजो से आजाद हुआ था। 

Leave a Comment