Kori jaati ka Itihas| koli caste in hindi | भारत के राष्ट्रपति और भगवन राम भी है इससे सम्बंधित

कोरी या कोली जाति 

इस जाति के लोग भारत के मूल निवासी हैं तथा ये भारत में येगुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और जम्मू कश्मीर राज्यों में निवास करते हैं। इन्हें भारत के कुछ राज्यों में जनजाति तथा कुछ राज्यों में पिछड़े वर्ग में रखा गया है।Kori jaati ka Itihas

कोली शब्द कोलिय कुल से आता है जिसका वर्णन प्राचीन इतिहास से प्राप्त होता है। भगवान गौतम बुद्ध का जन्म भी कोलिय कुल में हुआ था।

कोली जाति का इतिहास Kori jaati ka Itihas

कोलिय वंश की शुरुआत भगवान मान्धाता से हुई। महाराज मान्धाता ने पूरी पृथ्वी पर राज किया था  इसी लिए उन्हें पृथ्वीपति कहा जाता है। राजा दसरथ इस कुल की 25वीं पीढ़ी थे, अर्थात भगवान राम का जन्म इच्छवाकु वंश के कोलिय कुल में हुआ था।

मराठा सेनाओं में अधिकांश सेना कोलिय थे तथा ताना जी राव भी कोलिय वंश से ही थे।

कोलिय कुल की कुलदेवी का नाम मुम्बा देवी है तथा इन्हीं के नाम पर महाराष्ट्र राज्य को मुंबई नाम दिया गया है।Kori jaati ka Itihas Kori jaati ka Itihas

कोली जाति प्राचीन काल मे राजपूत थे ,परंतु समय के साथ उन्होंने राजपाट छोड़ दिया तथा पिछड़े वर्ग में शामिल हो गए। लेकिन अभी भी गुजरात और हिमांचल प्रदेश में कोली जाति राजपूत ही हैं।Kori jaati ka Itihas Kori jaati ka Itihas

सुसान बेबी जो की लेखिका है इनके अनुसार कोली जाती महारष्ट्र की एक बहुत ही पुरानी क्षत्रिय प्रजाति है। गुजरात और महाराष्ट्र के राजा लोग कोली जाती को बदमाशों की जाती के रूप में देखते थे इसी लिए राजा महाराजा कोली जाती  के लोगो को सेना के तौर पर काम लेते थे। 

हमारे देश के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी भी कोली जाति से संबंधित हैं। उत्तरप्रदेश राज्य में कोरी जाति के लोग अनुसूचित जाति की श्रेणी में आते हैं।

और भी पढ़े 

  1. कोरी जाति का इतिहास क्या है ?

    इस वंश की शुरुआत भगवान मान्धाता से हुई थी। दसरथ इस कुल के 25 वी पीढ़ी थे।

  2. कोरी कौन सी जाति होती है ?

    कोरी जाती प्राचीन समय में राजपूत करते थे। परन्तु समय के साथ ये अपना राज पैट छोड़ कर पिछड़ी जाती में शामिल हो गए।

  3. कोरी जाति कौन से वर्ग में आती है ?

    कोरी जाति को यूपी में एससी का दर्जा प्राप्त है और उन्हें एससी सर्टिफिकेट भी दिया जाता है।

  4. कोली समाज की उत्पत्ति कैसे हुई ?

    कोरी जाती प्राचीन समय में राजपूत करते थे। इस वंश की शुरुआत भगवान मान्धाता से हुई थी। कोरी और कोलिय को एक ही जाती मना जाता है।

  5. कोरी जाति का गोत्र क्या है ?

    कोरी एक बुनकर जाति है।

  6. भारत में कोरी जाति की जनसँख्या ?

    राज्य के आधार पर कोरी जाति की जनसँख्या निम्न है।
    1) जम्मू कश्मीर : 2 लाख +
    2) पंजाब : 9 लाख
    3) हरियाणा : 14 लाख
    4) राजस्थान : 78 लाख
    5) गुजरात : 1.50 लाख
    6) महाराष्ट्र : 45 लाख
    7) गोवा : 5 लाख
    कर्णाटक : 45 लाख
    9) केरल : 12 लाख
    10) तमिलनाडु : 36 लाख
    11) आँध्रप्रदेश : 24 लाख
    12) छत्तीसगढ़ : 24 लाख
    13) ओद्दिसा : 37 लाख
    14) झारखण्ड : 12 लाख
    15) बिहार : 90 लाख
    16) पश्चिम बंगाल : 18 लाख
    17) मध्य प्रदेश : 42 लाख
    18) उत्तर प्रदेश : 200 लाख (2 करोड़)
    19) उत्तराखंड : 20 लाख
    20) हिमाचल : 45 लाख
    21) सिक्किम : 1 लाख
    22) असाम : 10 लाख
    23) मिजोरम : 1.5 लाख
    24) अरुणाचल : 1 लाख
    25) नागालैंड : 2 लाख
    26) मणिपुर : 7 लाख
    27) मेघालय : 9 लाख
    28) त्रिपुरा : 2 लाख

Leave a Comment