10 Proven Benefits of Neem, Uses,Side-effect-नीम के उपयोग, फायदे, और साइड इफेक्ट्स

Neem kya hai ?

नमस्कार दोस्तों Know Facts पर आपका स्वागत है | यहां पर आपको सभी चीजों पर सही और सटीक जानकारी दी जाती है। Benefits of Neem Benefits of Neem
Know Facts  के इस पेज पर आज हम NEEM में उपस्थित पोषक तत्व तथा NEEM के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे | इसके साथ ही हम आपको यह भी बताएंगे NEEM का उपयोग और कहां कहां किया जा सकता है | Benefits of Neem


भारत में एक कहावत प्रचलित है, जिस धरती पर नीम के पेड़ होते हैं वहां बीमारियां और मृत्यु कैसे हो सकती है। भारत में इसके औषधीय गुणों के कारण हजारों वर्षों से इसका इस्तेमाल किया जाता रहा है। लेकिन, अब अन्य देश भी इसके गुणों के प्रति जागरूक हो रहे हैं।

हालां‍‍कि नीम स्वाभाव से कड़वा जरुर होता है, परन्तु इसके औषधीय गुण बड़े ही मीठे होते है। तभी तो नीम के बारे में कहा जाता है, कि एक नीम और सौ हकीम दोनों बराबर है। नीम सर्वरोगहारी गुणों से भरपूर होता है। इसका साबुन, एंटीसेप्टिक क्रीम, दातुन, मधुमेह नाशक चूर्ण, कॉस्मेटिक आदि के रूप में प्रयोग किया जाता है। Benefits of Neem

Some basic facts about Neem-नीम के बारे में सामान्य जानकारी 

Botanical name:———————–Azadirachta indica(अज़ादिराक्टा इंडिका )

Family:  ———————————Meliaceae(मेलिएसी )

Sanskrit name:————————-Nimba(निम्बा) or Arista (अरिष्टा)

Parts used(उपयोग किये जाने वाले भाग ):—नीम के लगभग सभी भाग इस्तेमाल किये                                                                 जाते है जैसे पत्तियाँ  बीज छाल जड़ फूल | 

रोचक तथ्य–  ऐसा मना  जाता है कि जो अपने जीवन में 3 नीम का पेड़ लगता है, उसे स्वर्ग की प्राप्ति होती है| Benefits of Neem Benefits of Neem Benefits of Neem

भारत में हजारों वर्ष से नीम का उपयोग औषधीय जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है | नीम के सभी हिस्सों के विभिन्न तरीकों से लाभकारी प्रभाव होते हैं | नीम को संस्कृत में अरिष्टा कहा जाता है अर्थात बीमारी को दूर करने वाला | नीम के पेड़ की औसत ऊंचाई लगभग 75 फीट होती है |

नीम का पेड़ त्वचा संक्रमण घाव संक्रमन जलन और फंगल इन्फेक्शन जैसे समस्याओं को दूर करता है | नीम के तेल से तैयार किए गए लोशन शैंपू साबुन आदि विभिन्न बीमारियों में इस्तेमाल किए जाते हैं |

नीम की पत्तियों को मच्छर भगाने में प्रयोग किया जाता है | नीम की पत्तियों का उपयोग लीवर की कार्य को सुधारने, ब्लड शुगर का स्तर संतुलित करने, तथा चेचक जैसी अनेक बीमारियों में किया जाता है | Benefits of Neem

नीम के पेड़ के निम्नलिखित भाग औषधि के रूप में उपयोग में लाए जाते हैं –

-तने की छाल, पत्तियां, फल, बीज, बीज का तेल , जड़

नीम में मिलने वाले तत्व-constituents of neem

 नीम की पत्ति में  मिलने वाले तत्व : 

नीम की पत्ती में निम्नलिखित तत्व पाए जाये है – Benefits of Neem 

Isomeldeninइसमेलडिनीन, Nimbinनिम्बिन, nimbineneनिम्बिनिन, 6-desacetyllnimbinene, nimbandiolनिम्बानिदिओल, nimocinolनिमोसिनोल, quercetinक्वेर्सेटिन , and beta-sitosterolसीटोस्टेरॉल. 

Two additional tetracyclic triterpenoids zafaral [24,25,26,27-tetranorapotirucalla-(apoeupha)-6alpha-methoxy-7alpha-acetoxy-1,14-dien-3,16-dione-21-al] (1)

 and Benefits of Neem Benefits of Neem Benefits of Neem

Meliacinanhydride [24,25,26,27-tetranorapotirucalla-(apoeupha)-6alpha-hydroxy,11alpha-methoxy-7alpha,12alpha-diacetoxy,1,14,20(22)-trien-3-one] (2)

 नीम की बीज में  मिलने वाले तत्व: नीम के बीज में निम्नलिखित तत्व पाए जाये है –tetranortriterpenoidsटेट्रानॉरटरीटरपिनोइड, azadirachtin Hएजाडिरेक्टिन [3] and azadirachtin I [4],  Benefits of Neem Benefits of Neem

नीम में  मिलने वाले तत्व: नीम में निम्नलिखित तत्व पाए जाये है – Benefits of Neem

 Azadirachtin एक  tetranortriterpenoid है जो नीम से प्राप्त होता है. Neem bark (नीम की छाल)  and पत्तियों में टैनिन तथा तेल होता है | Benefits of Neem

नीम के उपयोग Benefits of neem 

मलेरिआ में नीम के उपयोग use of neem in maleria 

नीम का उपयोग मलेरिया के रोकथाम में किया जाता है|  नीम में पाया जाने  वाला  Azadirachtin  मलेरिया परजीवी के शुक्राणुओं की गतिशीलता को खत्म करता है| जिससे इनकी संख्या नियंत्रित होती है | Benefits of Neem

गर्भनिरोधक के रूप में नीम उपयोग-Use of Neem as Contraception

नीम का उपयोग गर्भनिरोधक के रूप में किया जाता है | इसमें एंटीफर्टिलिटी प्रभाव होता है | एक अध्ययन में नीम को चूहों पर प्रयोग किया गया। उन्हें नीम का तेल दिया गया और यह पाया गया कि वे चूहे कुछ समय के लिए बाँझ impotent  हो गए। इस प्रकार नीम के तेल का उपयोग अनचाहे गर्भ को रोकने में किया जा सकता है।Benefits of Neem

दाँतों तथा मुँह के लिए नीम उपयोग -Use of Neem in teeth and mouth

नीम के अर्क से बना हुआ माउथवाश (mouthwash)‘स्ट्रेप्टकॉकस म्यूटंट्स (Streptococcus mutans)’ के विकास को रोकता है। Streptococcus mutans एक प्रकार के जीवाणु होते हैं जो कि मुँह और दाँतों में समस्या उत्पन्न करते हैं।

नीम के तेल का उपयोग टूथपेस्ट में भी किया जाता है, क्योंकि नीम बैक्टीरीया व अन्य कीटाणुओं के विरुद्ध लड़ने में सक्षम होती  है। नीम की छाल को चबाने से मुँह की बदबू समाप्त होती है। इसके अतिरिक्त नीम की छाल दाँतों के दर्द और उनमें लगने वाले कीड़ों की समस्या से भी छुटकारा प्रदान करती  है। Benefits of Neem Benefits of Neem

डायबिटीज में नीम का उपयोग Use of Neem in diabetes

 नीम प्राकृतिक रूप से कड़वा होता है। एक अध्ययन में यह बात  साबित हुई कि नीम में हाईपोग्लाइसेमिक (Hypoglycemic) गुण पाए जाते हैं। ये रक्त(blood) में पाए जाने वाले शुगर के कणों को घटाकर मधुमेह की सम्भावनाओं को कम करते हैं। नीम मधुमेह के कारण होने वाले तनाव को भी कम करता है। एक अध्ययन में नीम के एंटीडायबिटिक (antidiabetic) प्रभावों को देखा गया जो कि मधुमेह की रोकथाम तथा उपचार में सहायक होते हैं।Benefits of Neem Benefits of Neem Benefits of Neem


कैंसर उपचार में नीम का उपयोग-Use of neem in Cancer

नीम की पत्तियों का उपयोग कैंसर के उपचार में किया जाता है। नीम की पत्तियाँ प्रोस्टेट कैंसर, लिवर कैंसर  की संभावनाओं को कम करती हैं। नीम की पत्तियों में कैंसर बनाने वाली कोशिकाओं के विरुद्ध कार्य करने की क्षमता होती है। नीम में पाए जाने वाले पदार्थ  चिकित्सा एजेंट कहलाते हैं।

ये कोशिकाओं के विभाजन के समय चेक प्वाइंटस (check points ) को खराब होने से बचाते हैं। इस प्रकार कोशिकाएँ अनियंत्रित रूप से  बटने नहीं पाती हैं | कैंसर में नीम के प्रभाव नीम कैंसर रोग के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है कैंसर संस्थान का मानना है की नीम के फल बीज पत्ती छाल इत्यादि का उपयोग कैंसर में को खत्म करता है या कैंसर की कोशिकाओं को विभाजित होने से रोकता है |

नीम में मौजूद  Nimocinol रक्त को शुद्ध करने का भी कार्य करते हैं। यह शरीर में उपस्थित हानिकारक विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल कर शरीर को साफ करता है | रक्त में उपस्थित विषाक्त पदार्थ की वजह से इसका प्रभाव त्वचा पर पड़ता है | नीम का तेल रक्त में पाए जाने वाले शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है।यह लिवर को detoxify करता है।

एक गिलास पानी में दो से तीन नीम की पत्तियाँ और कुछ मात्रा में शहद मिलाएँ। इस मिश्रण का सेवन प्रतिदिन सुबह ख़ाली पेट करें। इससे हार्मोन स्तर की गड़बड़ी Hormonal disbalance में सुधार आता है।

आँख के लिए  नीम का उपयोग-Use of neem for eyes 

नीम आँखों में होने वाली अनेक प्रकार की समस्याओं से राहत प्रदान करता है। नीम की पत्तियाँ आँखों में होने वाली जलन और अन्य समस्याओं से राहत प्रदान करती हैं। पानी में नीम की कुछ पंक्तियाँ उबाल लें और इसे ठंडा कर लें। अब इस पानी से आँखों को अच्छे से धोयें। ऐसा करने से आँखों में होने वाली जलन और लालिमा से राहत मिलती है। 
 
मुहांसो में नीम का उपयोग-use of neem in face pimple

नीम की पत्तियों के अर्क से परिपूर्ण पानी मुहाँसों के लिए लाभदायक होता है। एक से डेढ़ लीटर पानी में नीम की 30-50  पत्तियाँ उबाल लें। पानी को तब तक उबालें जब तक कि पानी हरा न हो जाये । इस मिश्रण को ठंडा करके एक बोतल में स्टोर कर लें। प्रत्येक रात सोने से पूर्व एक रूई cotton  को इस पानी में डुबोकर उससे चेहरा साफ करें।
यह चेहरे की त्वचा के रोम छिद्र pores खोलने में मदद करता है जिससे कि त्वचा की गंदगी बाहर निकल जाती है। इसी प्रकार नीम के पाउडर को भी त्वचा के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
 

रूसी के लिए नीम के फायदे-Use of neem for Dandruff

नीम में फंगस रोधी Anti-fungal तथा जीवाणु रोधी anti-bacterial गुण पाया जाता है| इसका उपयोग रूसी के उपचार तथा त्वचा विकार के लिए किया जाता है| यह रूखेपन और खुजली से राहत दिलाता है| लगभग नीम की 20 -30 पत्तियों को पानी में तब तक उबालें जब तक पानी का रंग हरा नहीं हो जाता| उसके बाद पानी को ठंडा कर लें और बालों में शैंपू करने के बाद इस पानी से बालो को धो लें|

नीम के पाउडर को पर्याप्त मात्रा में पानी के साथ मिलाकर एक पेज तैयार करें और इसे बालों तथा सिर की त्वचा में लगाएं लगाकर 30 मिनट के लिए छोड़ दें तत्पश्चात शैंपू से बाल को धो ले| यह बालों को स्वस्थ बनाएगा तथा रूसी से छुटकारा दिलाएगा| Benefits of Neem Benefits of Neem Benefits of Neem

नीम से होने वाले नुकसान sideeffects of neem

नीम के पत्ते का उपयोग करने से पुरुषों में प्रजनन क्षमता कम हो सकती है अतः इसका सही मात्रा में तथा सही तरीके से इस्तेमाल करना ही उचित रहता है | Benefits of Neem

 
यदि आपको कोई ऑटो-इम्यून autoimmune disease रोग है तो आपको नीम के प्रयोग से बचना चाहिए। नीम प्रतिरक्षा प्रणाली को अत्यधिक सक्रिय कर देता है और कई ऑटो-इम्यून रोग जैसे स्केलेरोसिस का कारण बनता है।Benefits of Neem
 
नीम से गर्भपात abortion होने का ख़तरा होता है अतः गर्भवती महिलाओं को नीम के सेवन से बचना चाहिए। यह स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी हानि पहुँचाता है|
 
 
 

 

 
Benefits of Neem Benefits of Neem

Health Benefits of Ashwagandha

Leave a Comment